Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

बॉर्डर पर 4 भारतीयों की दर्दनाक मौत, सर्दी की वजह से चारों जम गए!

अमेरिका-कनाडा बॉर्डर में चारों भारतीय संगठित मानव तस्करी गैंग का शिकार बताए जा रहे हैं जो इन्हें बीच में ही छोड़कर चला गया. मरने वालों में एक नवजात भी शामिल है. पुलिस ने इस मामले में एक 47 साल के शख्स की गिरफ्तारी भी की है.


अमेरिका से लगी कनाडा की सीमा पर दर्दनाक हादसे में एक परिवार के चार सदस्यों की सर्दी की वजह से मौत हो गई, यह चारों भारतीय नागरिक हैं. मरने वालों में एक नवजात भी शामिल है. हालांकि, इसे मानव तस्करी से जुड़ा मामला बताया जा रहा है. 

बॉर्डर पर मिले 4 भारतीयों के शव

मैनटोबा रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस (आरसीएमपी) ने गुरुवार को बताया कि एमर्सन के नजदीक कनाडा-अमेरिका सीमा पर कनाडा की ओर बुधवार को चार शव मिले, जिनमें दो शव वयस्कों के, एक किशोर का और एक नवजात शिशु का है.

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि यह माना जा रहा है कि मृतक भारत से आए थे और कनाडा से अमेरिका की सीमा में दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे. आरसीएमपी के सहायक आयुक्त जेन मैक्लैची ने गुरुवार को कहा, ‘आज मैं जो जानकारी साझा करने जा रही हूं, वह कई लोगों के लिए सुनना मुश्किल है, यह निश्चित तौर पर दुखद हादसा है. जांच के बहुत ही शुरुआती दौर में लगता है कि सभी की मौत सर्द मौसम की वजह से हुई है.’

मृतक के पास था बच्चे का सामान

मैक्लैची ने कहा कि आरसीएमपी का मानना है कि चारों मृतक उस ग्रुप का हिस्सा थे, जिन्हें सीमा के नजदीक अमेरिकी क्षेत्र से पकड़ा गया है. उन्होंने बताया कि चारों शव सीमा से 9 से 12 मीटर की दूरी पर मिले.

खबर के मुताबिक मैनटोबा आरसीएमपी को अमेरिकी सीमा शुल्क और सीमा रक्षा विभाग से बुधवार को जानकारी मिली कि एमर्सन के नजदीक लोगों का एक ग्रुप बॉर्डर पार कर अमेरिका में दाखिल हुआ है और एक वयस्क के हाथ में बच्चे के उपयोग की वस्तुएं हैं, लेकिन ग्रुप में नवजात शिशु नहीं है.

तस्करी के आरोप में एक गिरफ्तारी

इसके तुरंत बाद सीमा के दोनों ओर सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया और दोपहर को वयस्क पुरुष, महिला और नवजात का शव मिला जबकि किशोर का शव कुछ देर बाद मिला. डिस्ट्रिक्ट ऑफ मिनिसोटा के अमेरिकी अटॉर्नी कार्यालय ने बताया कि मामले में मानव तस्करी के आरोप में फ्लोरिडा के 47 वर्षीय व्यक्ति स्टीव शैंड को गिरफ्तार किया गया है.

मैनटोबा आरसीएमपी के मुताबिक यह लोग किसी की मदद से बॉर्डर पार जाने की फिराक में थे. लेकिन खराब मौसम की वजह से इनकी मौत हो गई क्योंकि वहां अभी तेज हवाएं चल रही हैं और टेंपरेचर माइनस 35 डिग्री सेल्सियस के आस-पास है. ये चारों लोग न सिर्फ सर्दी की चपेट में आए बल्कि लंबी दूरी, बर्फीली हवाएं और अंधेरे को भी इस हादसे की वजह माना जा रहा है.

Post a Comment

0 Comments