Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

टीम इंडिया में राजनीति के शिकार हुए ये 2 खिलाड़ी, वक्त से पहले ही खत्म हो गया करियर

Team India: भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेलना हर क्रिकेटर का सपना होता है, लेकिन कुछ ही किस्मत वाले खिलाड़ी ऐसे होते हैं जो अपने देश के लिए लंबा खेल पाते हैं. भारत के दो क्रिकेटर्स ऐसे हैं, जो अपने करियर के दौरान टीम इंडिया में राजनीति का शिकार हुए हैं और ये खिलाड़ी ज्यादा समय तक इंटरनेशनल क्रिकेट नहीं खेल पाए. 


भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेलना हर क्रिकेटर का सपना होता है, लेकिन कुछ ही किस्मत वाले खिलाड़ी ऐसे होते हैं जो अपने देश के लिए लंबा खेल पाते हैं. भारत के दो क्रिकेटर्स ऐसे हैं, जो अपने करियर के दौरान टीम इंडिया में राजनीति का शिकार हुए हैं और ये खिलाड़ी ज्यादा समय तक इंटरनेशनल क्रिकेट नहीं खेल पाए. आइए एक नजर डालते हैं उन 2 क्रिकेटर्स पर:

1. अंबाती रायडू
भारत के बेहतरीन मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज अंबाती रायडू टीम इंडिया में नंबर 4 पर बल्लेबाजी करने के प्रबल दावेदार थे. 2019 वर्ल्ड कप में अचानक इस खिलाड़ी को सेलेक्टर्स ने टीम से बाहर कर दिया. इसके बाद अंबाती रायडू ने इस फैसले का विरोध जताते हुए क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान कर दिया. ICC वर्ल्ड कप 2019 के दौरान अंबाती रायडू की जगह विजय शंकर को टीम इंडिया में शामिल करते हुए मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा था कि विजय शंकर टीम को 3D ऑप्शन (बैटिंग, बॉलिंग और फील्डिंग) प्रदान करेंगे. इस बयान के बाद अंबाती रायडू ने चयनकर्ताओं पर तंज कसते हुए ट्वीट करते हुए लिखा था, 'मैंने 3D चश्मे का पेयर ऑर्डर किया है वर्ल्ड कप देखने के लिए.' इसके बाद अंबाती रायडू को विजय शंकर व शिखर धवन के इंजर्ड होने के बावजूद टीम में मौका नहीं मिला था.

2. करुण नायर
भारतीय टीम के बल्लेबाज करुण नायर ने अपने टेस्ट करियर के तीसरे ही टेस्ट मैच में इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम के खिलाफ तिहरा शतक जड़ दिया था. ऐसा रिकॉर्ड इससे पहले वीरेंद्र सहवाग के अलावा कोई भी भारतीय बल्लेबाज नहीं बना पाया था. इस तिहरे शतक के बाद ही करुण नायर के करियर की उल्टी गिनती शुरू हो गई. करुण नायर को आखिरी बार साल 2017 में टीम इंडिया की ओर से खेलते हुए देखा गया था. करुण नायर ने भारतीय टीम के तब के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री पर बड़े आरोप लगाए थे. करुण नायर ने कहा था कि ना तो मुझे कोच ना कप्तान और ना ही चयनकर्ताओं ने बताया, कि मैं टीम से क्यों बाहर हूं. मुझसे किसी ने भी कोई बात नहीं की.

Post a Comment

0 Comments