Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

यूएई से लौटे जिस युवक की मौत हुई, वह मंकीपॉक्स से संक्रमित था : केरल की स्वास्थ्य मंत्री

एहतियात के तौर पर इस महीने की शुरुआत में राज्य सरकार ने संक्रमण या बीमारी के लक्षण वाले लोगों के आइसोलेशन और सैंपल लेकर इलाज के लिए एसओपी जारी की थी.


हाल ही में संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से लौटे केरल के एक व्यक्ति की शनिवार को मृत्यु हो गई. वह मंकीपॉक्स (Monkeypox) से संक्रमित पाया गया था. राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज (Veena George) ने कहा कि संक्रमित रोगी युवा था, किसी अन्य बीमारी या स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित नहीं था. स्वास्थ्य विभाग उसकी मौत के कारणों की जांच कर रहा था. पता लगाएंगे कि 21 जुलाई को यूएई से लौटने के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराने में देरी क्यों हुई.

स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा "युवक 22 जुलाई को संयुक्त अरब अमीरात से लौटा. वह अपने परिवार के साथ था. उसे 26 जुलाई को बुखार आया तो उसे 27 जुलाई को भर्ती कराया गया. इसके बाद 28 जुलाई को उसे वेंटिलेटर पर रखा गया. मंकीपॉक्स के टेस्ट में वह संक्रमित पाया गया." 

केरल में 30 जुलाई को उक्त 22 वर्षीय युवक की मौत हुई थी. सोमवार को उसके सैंपल में मंकीपॉक्स का संक्रमण होने की पुष्टि हुई है. सूत्रों ने कहा कि युवक हाल में यूएई से लौटा था. वहां भी उसके मंकीपॉक्स वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी. यूएई में 19 जुलाई को उसके सैंपल लिए गए थे और 21 जुलाई को वह भारत लौटा था. इसके बाद 27 जुलाई को उसे त्रिशूर के अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

युवक के सैंपल को जांच के लिए पुणे में स्थित राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (NIV) भेजा गया था. सोमवार को उसके सैंपल में संक्रमण मिलने की पुष्टि हुई.

युवक के रिश्तेदारों के अनुसार, उन्हें 30 जुलाई को बताया गया कि यूएई में लिए गए उसके नमूनों में भी संक्रमण मिलने की पुष्टि हुई थी. 30 जुलाई को ही युवक की मौत हो गई थी. 

केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने रविवार को कहा था कि स्वास्थ्य विभाग युवक की मौत के कारणों का पता लगाएगा. उन्होंने कहा था कि रोगी युवा था और वह किसी अन्य रोग या स्वास्थ्य समस्या से ग्रस्त नहीं था. लिहाजा, स्वास्थ्य विभाग उसकी मौत के कारणों का पता लगा रहा है. जॉर्ज ने कहा कि वे ये भी पता लगाएंगे कि 21 जुलाई को यूएई से लौटने के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराने में देरी क्यों हुई.

Post a Comment

0 Comments