Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

छह दिन बाद चीला बैराज से बरामद हुआ अंकिता का शव, श्रीनगर में होगा दाह संस्‍कार

 छह दिन बाद चीला बैराज से बरामद हुआ अंकिता का शव, श्रीनगर में होगा दाह संस्‍कार.


गंगाभोगपुर में रिजॉर्ट रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी का शव एसडीआरएफ ने बरामद कर लिया है। शव की शिनाख्त करने के लिए SDRF ने अंकिता के परिजनों को बुलाया था। बता दें कि गंगाभोगपुर में रिजॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट के तौर पर काम कर रही युवती अंकिता भंडारी की वेश्यावृत्ति से मना करने पर नहर में धक्का देकर हत्या कर दी गई थी। हत्या करने वाला कोई और नहीं रिजॉर्ट का मालिक और भाजपा नेता का बेटा कुलदीप आर्या निकला था। अंकिता के शव की बरामदगी नहीं हो पाई थी। SDRF की टीम शव को तलाश करने के लिए अभियान चला रही थी। इस मामले में पुलिस ने पुलकित आर्या समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया था।

परिजनों ने की शव की शिनाख्त

चीला नहर में शव मिलने के बाद SDRF ने अंकिता के परिजनों को शव की शिनाख्त के लिए बुलाया था। एडिशनल एसपी शेखल सुयाल ने बताया कि अंकिता के भाई और पिता ने मौके पर पहुंचकर शव की शिनाख्त की है। चीला नहर में पाया गया शव मृतका अंकिता का ही है।

वेश्यावृत्ति से मना करने पर कर दी थी हत्या

रिजॉर्ट मालिक पुलकित आर्या अंकिता से वेश्यवृत्ति करने के लिए कहता था जिससे मना करने पर पुलकित ने अपने दो सहयोगियों के साथ मिलकर अंकिता को चीला नहर में धक्का देकर हत्या कर दी थी। पुलकित, अंकिता से रिजॉर्ट में रुकने वाले लोगों के साथ संबंध बनाने के लिए कहता था जिससे अंकिता ने मना कर दिया था। शुक्रवार को हत्या में शामिल तीनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।

रिजॉर्ट पर चला बुलडोजर

मामला खुलने के बाद पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए तीनों की गिरफ्तारी कर ली और रिजॉर्ट पर रातों-रात बुलडोजर चलाकर ध्वस्तीकरण शुरू कर दिया गया। गिरफ्तारी होने के बाद प्रशासन बुलडोजर लेकर रिजॉर्ट पहुंचा और रिजॉर्ट गिराने लगी। मेन गेट तोड़ने के साथ शुरू हुआ सिलसिला देर तक चलता रहा। उत्तर प्रदेश सरकार की तरह उत्तराखंड सरकार भी आरोपियों के साथ व्यवहार कर रही है। जिसमें जघन्य आरोपों में शामिल आरोपियों के घर पर बुलडोजर चलाने की बात सामने आती रहती है।

कोर्ट ले जाते समय हुई थी आरोपियों की पिटाई

शुक्रवार को जब पुलिस तीनों आरोपियों को कोर्ट लेकर जा रही थी तभी भीड़ ने पुलिस की गाड़ी रोक कर तीनों आरोपियों की बुरी तरह पिटाई कर दी थी। पिटाई करते-करते भीड़ ने आरोपियों के कपड़े तर फाड़ डाले थे। बिगड़ी स्थिति और भीड़ को संभालने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा था। भीड़ ने आरोपियों को गाड़ी में बुरी तरह पीटा और पुलिस की गाड़ी पर ईंट पत्थर भी चलाए।

धामी ने कहा ऐसे अपराध के आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा

शनिवार को राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ट्वीट कर कहा कि गैरकानूनी रूप से बने रिजॉर्ट पर बुलडोजर चला दिया गया है। ऐसे जघन्य अपराध के आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा।

Post a Comment

0 Comments