Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Jhulan Retirement: झूलन को विदाई देते हुए रो पड़ीं कप्तान हरमनप्रीत, गले लगाया, रोहित शर्मा ने कही यह बात

हरमनप्रीत ने रोते हुए झूलन को गले से लगा लिया। भारतीय टीम फिलहाल सीरीज में 2-0 से आगे है और तीसरे मैच को भी जीतकर इंग्लैंड को क्लीन स्वीप कर झूलन को शानदार विदाई देना चाहेगी।

भारत और इंग्लैंड की महिला टीमों के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज का तीसरा मुकाबला लंदन के लॉर्ड्स मैदान पर खेला जा रहा है। यह मैच भारत की दिग्गज तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी का आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच है। इस मैच से पहले आईसीसी ने झूलन और कप्तान हरमनप्रीत कौर की कुछ तस्वीरें शेयर की हैं। इन तस्वीरों में सभी भारतीय खिलाड़ी झूलन को विदाई देने से पहले एकसाथ जमा हुए। इस दौरान सभी ने कुछ यादगार पलों को साझा किया। वहीं, इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के अंतरिम चीफ एग्जीक्यूटिव क्लेयर कोनोर और हेड कोच लीसा काइटले ने झूलन को इंग्लैंड की खिलाड़ियों द्वारा साइन की गई जर्सी गिफ्ट की।

रो पड़ीं हरमनप्रीत

वहीं, कप्तान हरमनप्रीत समेत कई खिलाड़ी इस मौके पर रो भी पड़ीं। हरमनप्रीत ने रोते हुए झूलन को गले से लगा लिया। झूलन हरमनप्रीत के साथ टॉस के लिए मैदान पर उतरी थीं। भारतीय टीम फिलहाल सीरीज में 2-0 से आगे है और तीसरे मैच को भी जीतकर इंग्लैंड को क्लीन स्वीप कर झूलन को शानदार विदाई देना चाहेगी। झूलन वनडे में दूसरी सबसे ज्यादा मैच खेलने वाली खिलाड़ी हैं। 

झूलन का अंतरराष्ट्रीय करियर

झूलन ने अब तक 204 वनडे खेले हैं। वहीं, भारत की ही पूर्व बल्लेबाज और कप्तान मिताली राज ने 232 वनडे मुकाबले खेले थे। झूलने ने 204 में से 201 वनडे मुकाबले मिताली के साथ खेले हैं। उन्होंने कुल 284 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। इनमें 204 वनडे, 12 टेस्ट और 68 टी20 शामिल हैं। वनडे में झूलन ने 253, टेस्ट में 44 और टी20 में 56 विकेट लिए हैं। वह 2007 में आईसीसी वुमन क्रिकेटर ऑफ द ईयर भी रह चुकी हैं। 

 बीसीसीआई ने शेयर किया वीडियो
बीसीसीआई विमेन ने एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें वह क्रिकेट को लेकर अपने अनुभव के बारे में बता रही हैं। झूलन ने कहा- मेरे लिए क्रिकेट में बेस्ट मोमेंट वह है जब मैं नेशनल एंथेम के लिए मैदान पर जाती हूं। ग्राउंड के बीच में खड़े होकर राष्ट्रगान गाना सबसे अच्छी फीलिंग है। वह जर्सी पहनना जिसमें भारत का नाम लिखा होता है, उसे पहनना अपने आप में गजब का एहसास है। मैंने इन सभी चीजों का सपना देखा था। मैं इन सभी चीजों को बहुत मिस करूंगी, लेकिन सभी चीजों को कभी न कभी खत्म होना होता है। 20 सालों से ज्यादा समय तक देश का प्रतिनिधित्व करना मेरे लिए गर्व की बात है। मैंने जो भी मुकाबले खेले वह पूरी ईमानदारी और निष्ठा के साथ खेले। ड्रेसिंग रूम में मौजूद रहना मेरे लिए गजब का एहसास रहा है। वहां हमने अच्छे और बुरे पलों को महसूस किया, लेकिन एकजुट रहे।



रोहित शर्मा ने झूलन को लेकर क्या कहा?

रोहित ने कहा- झूलन की बात करें तो वह क्रिकेट में भारत की स्तंभों में से एक रही हैं। उन्होंने देश के लिए बहुत कुछ किया है। उन्होंने देश के लिए खेलते हुए काफी पैशन दिखाया है, जो कि पुरुष और महिला युवा क्रिकेटरों के लिए उदाहरण है। आप झूलन से काफी कुछ सीख सकते हैं। मैं उनसे कम ही बार मिला हूं। एक याद अब भी ताजा है, जब मैं नेशनल क्रिकेट एकेडमी में था और नेट प्रैक्टिस कर रहा था। झूलन मुझे गेंदबाजी कर रही थीं। उन्होंने मुझे अच्छी चुनौती दी और हैरान कर दिया। उनके इन स्विंगर्स और यॉर्कर्स ने मुझे परेशान किया था। मैं उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं।


मंधाना और हरमनप्रीत ने झूलन को लेकर क्या कहा?

स्मृति मंधाना ने कहा- झूलन टीम की एक अहम सदस्य रहीं। उनका कोई रिप्लेसमेंट नहीं है। अब उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलते नहीं देख पाना मेरे लिए काफी इमोशनल होगा। वहीं, हरमनप्रीत ने कहा- उनका जो टीम के प्रति एप्रोच रहता है वह हमेशा अच्छा प्रदर्शन करना रहता है। इसका मुकाबला कोई खिलाड़ी नहीं कर सकता है। जब मैं टीम में आई थी तो वह एक खिलाड़ी थीं, जो लीडिंग फ्रॉम द फ्रंट की एक उदाहरण थीं। मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है और कोई उनकी जगह नहीं ले सकता है। मैं भाग्यशाली हूं कि मेरे पास एक ऐसा सीनियर था, जिनसे मैं नजदीक से काफी कुछ सीख पा रही थी।

Post a Comment

0 Comments