Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

PM Modi Birthday: पीएम मोदी की अच्छी सेहत के लिए स्कूल की 72 लड़कियों ने की मां अंबे की आरती, चढ़ाया 21 किलो का बूंदी का प्रसाद

PM Modi Birthday: सभी बच्चियों ने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री पर गर्व है। वो कामना करती हैं कि इसी तरह प्रधानमंत्री अच्छा काम देश के लिए करते रहें। आज स्कूल की छुट्टी है इसलिए स्कूल की तरफ से वो यहां आई हैं। सभी ने प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी को जन्मदिन की बधाई दी।


पीएम मोदी 72 साल के हो गए हैं और आज उनका जन्मदिन है। ऐसे में पूरे देश में बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच उत्साह नजर आ रहा है और विपक्षी नेताओं ने भी पीएम मोदी को जन्मदिन की बधाई दी है। मुंबई के माधवबाग इलाके में स्कूल की 72 लड़कियों ने पीएम मोदी की अच्छी सेहत के लिए अंबे मां की आरती की है। इन छोटी बच्चियों ने आरती की थाली हाथ में लेकर पीएम मोदी की सेहत की प्रार्थना की और 21 किलो का बूंदी का प्रसाद चढ़ाया।

सभी बच्चियों ने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री पर गर्व है। वो कामना करती हैं कि इसी तरह प्रधानमंत्री अच्छा काम देश के लिए करते रहें। आज स्कूल की छुट्टी है इसलिए स्कूल की तरफ से वो यहां आई हैं। सभी ने प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी को जन्मदिन की बधाई दी।


बीजेपी पार्षद अतुल शाह ने किया कार्यक्रम का आयोजन

इस कार्यक्रम का आयोजन बीजेपी पार्षद अतुल शाह की तरफ से किया गया। शाह ने बताया कि इस कार्यक्रम के अलावा रक्तदान शिविर, केक कटिंग, महामृत्युंजय जप जैसे तमाम धार्मिक कार्यक्रम भी आज आयोजित किए जा रहे हैं। 


जन्मदिन के मौके पर पीएम ने किया चीते का स्वागत

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज भारत की सरजमीं पर चीतों का स्वागत किया। 74 साल बाद आज ये चीते अफ्रीकी देश नामीबिया से 16 घंटे की उड़ान भरकर खास विमान खास जंबो जेट बी 747 से ग्वालियर पहुंचे। इस विमान को चीते की शक्ल में खास तरीके से सजाया गया था, जो सीधे ग्वालियर उतरा। पीएम मोदी ने इन चीतों को मध्यप्रदेश के कुनो नेशनल पार्क में छोड़ा। इस नेशनल पार्क में नामीबिया से आ रहे 8 चीतों को रखा गया है।


1950 में हुआ था पीएम मोदी का जन्म

पीएम नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 हुआ। वह देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने आजाद भारत में जन्म लिया। एक साधारण परिवार में जन्मे नरेंद्र मोदी का सत्ता के शीर्ष पर पहुंचना इस बात का संकेत है कि यदि व्यक्ति में दृढ़ इच्छा शक्ति और अपनी मंजिल तक पहुंचने का जज्बा हो तो वह मुश्किल से मुश्किल हालात को आसान बनाकर अपने लिए नए रास्ते बना सकता है।

Post a Comment

0 Comments