Header Google Ads

हनी ट्रेप मे फंसाकर फ़र्ज़ी मुकदमे लिखवाने वाला गिरोह पकड़ा गया.. मां - बेटी सहित 4 अरेस्ट

मिस्ड कॉल या मेसेज से युवाओं को फंसाने का खेल खुला.. लम्बी लम्बी बाते.. फिर मुलाक़ात और FIR 

हनी ट्रेप मे फंसाकर फ़र्ज़ी मुकदमे लिखवाने वाला गिरोह पकड़ा गया.. मां - बेटी सहित 4 अरेस्ट 
UP : नोएडा के सूरजपुर पुलिस ने लोगों को प्रेमजाल (हनी ट्रैप) में फंसाकर झूठे मुकदमे लिखाने के नाम पर पैसे ऐठने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। गिरोह को संचालित करने वाला फर्जी वकील, उसका साथी व दो महिला गिरफ्तार तथा एक बाल आरोपी को पुलिस अभिरक्षा में लिया गया। कब्जे से आनलाईन शांपिंग कर लिया गया घरेलू सामान, नगद रूपये, कार व मोबाइल आदि बरामद किए हैं।

एडीसीपी सेंट्रल नोएडा हृदेश कठेरिया ने जानकारी देते हुए बताया कि  मंगलवार  को वादी ने थाना सूरजपुर पर मुकदमा दर्ज कराया कि एक महिला कविता तथा उसके साथी फारूख (फर्जी वकील) व उनके अन्य साथियो ने एक राय होकर उसे लडकी से मिलाने का झांसा देकर हनी ट्रैप में फंसाकर मारपीट और गाली गलौज की और ही पीड़ित को जान से मारने की धमकी देने दी उसको को जेल भिजवाने व इज्जत खराब करने और जान-माल का भय दिखाकर उससे नगद व पेटीएम कुल 1,63,000 ₹ ऐंठ लिए है।

सूरजपुर पुलिस ने पीड़ित की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर के सम्बन्ध में तहरीर दी गयी जिसके आधार पर 9 जनवरी को थाना सूरजपुर पुलिस व सीडीटी टीम (सै0नो0) के संयुक्त प्रयास से इस मामले में नामित/प्रकाश में आये आरोपी फारूख, कविता, विष्णु उर्फ डमरू और पूजा व एक अन्य बाल अपचारी महिला को विशाल मेगा मार्ट के पास कस्बा सूरजपुर से गिरफ्तार किया गया है। आरोपियो के कब्जे से घटना से सम्बन्धित घरेलू सामान कपडे, जूते, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण आदि कीमत लगभग 40,000 रू0 व नगद 82,000 रू0, वादी का मोबाइल फोन, घटना में प्रयुक्त मोबाइल फोन व वैगनार कार बरामद हुए है। गिरफ्तारी व बरामदगी के आधार पर आगे की विधिक कार्यवाही की जा रही है।

अपराध करने का तरीका

पुलिस को पूछताछ के दौरान आरोपियो ने बताया कि हनीट्रैप गिरोह की मुख्य सरगना कविता है, जो कि अपने साथी फारूख, कुछ पुरुष साथियो और स्वयं की बेटी व भतीजी व अन्य लडकियो के साथ मिलकर किसी भी व्यक्ति के बारे में जानकारी कर या मोबाइल पर मिसकाल/मैसेज के माध्यम से दोस्ती बनाकर प्रेमजाल में फंसाते है। जब वह इनमें से किसी महिला से मिलने आता है। तब उसे सुनसान/उपयुक्त स्थान पर लेकर उसे संगीन मुकदमो में फंसाने व जान माल का भय दिखाकर उनसे नगद रूपये व आनलाईन बैंक खाता रूपये डलवाकर छोड देते है। पीडित व्यक्ति सामाजिक लाज भय के कारण शिकायत आदि नही करते है।

इस गैंग के द्वारा पूर्व में की गई घटनाएंः

1. दिनांक 5.01.2023 को एक पड़ोसी युवक के खिलाफ छेड़छाड़ की घटना दिखाकर थाना सूरजपुर पर मुकदमा छेड़खानी व पॉक्सो एक्ट की धाराओं में लिखवाया गया था। बाद में न्यायालय में दिये गये अपने बयान अन्तर्गत धारा 164 सीआरपीसी में घटना को झूठी बताया गया।

2.दिनांक 22.09.2023 को  कविता द्वारा अपनी ही कंपनी में काम करने वाले एक युवक पर छेड़खानी का आरोप लगाकर थाना सूरजपुर पर प्रार्थना पत्र दिया गया बाद में उक्त घटना जांच के दौरान झूठी पाई गई।

3.दिनांक 25.10.2023 को थाना बीटा-2 पर एक युवक पर रेप/अबॉर्शन जैसे गंभीर आरोप लगाकर प्रार्थना पत्र दिया गया बाद में लगभग चार लाख रूपए लेकर प्रार्थना पत्र को वापस लिया गया। जिसके संबंध में साक्ष्य/वीडियों आदि मौजूद है।

#Noida #delhiCrime #delhipolice 
Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.