Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

300 रुपये के लिए 11 बार कार चढ़ाकर मार डाला, उसके पहले जो किया वो भी डरावना था; जानें मामला

Shopkeeper dies after customer runs him over rail ticket charges: पुलिस ने इस गंभीर मामले में कार्रवाई करते हुए एक आरोपित नकुल को गिरफ्तार कर स्विफ्ट कार बरामद कर ली है. मृतक के पिता ने सतवीर ने बताया कि उनका परिवार घरबरा गांव में रहता है. उनका बेटा नितिन मोबाइल की दुकान चलाने के साथ ट्रेन टिकट के रिजर्वेशन का काम भी करता था. इस कांड में उसकी मौत के बाद तीन बच्चों के सिर से पिता का साया उठ गया है.

उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में तीन सौ रुपये के पीछे एक ट्रैवल एजेंट की बेरहमी से हत्या कर दी गई. ये सनसनी खेज मामला घरबरा गांव में सामने आया. जहां आरोपी हत्यारों ने 11 बार कार चढ़ाकर नितिन शर्मा नाम के दुकानदार को मार डाला. ट्रेन का रिजर्वेशन कैंसल करने के बदले 300 रुपये काटने पर गांव में ही रहने वाले दो भाइयों ने नितिन शर्मा को गाड़ी से बार बार कुचला, जिससे उसकी मौत हो गई. 

दरिंदगी की इंतहा

यहां दोनों भाइयों ने दरिंदगी की हद पार करते हुए नितिन पर 11 बार बैक गियर करके चढ़ाई. पीड़ित ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. मामले को लेकर एडिशनल, डीसीपी ग्रेटर नोएडा विशाल पांडेय ने कहा, 'एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है. जल्द ही फरार दूसरे फरार आरोपी अरूण उर्फ छोटू को गिरफ्तार किया जाएगा.

नहीं आया कोई बचाने वाला'

इस दौरान वहां पर मौजूद लोगों ने पीड़ित को बचाने तक का प्रयास नहीं किया. सब वहां पर मूकदर्शक बने रहे. उनकी इतनी हिम्मत भी नहीं हुई कि कोई पुलिस को खबर कर सके. अस्पताल से मामले की सूचना पुलिस तक पहुंची इसके बाद मामले का खुलासा हुआ. राहगीरों की मदद से घायल दुकानदार को अस्पताल ले जाया गया. 

पिता का छलका दर्द

पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए एक आरोपित नकुल निवासी घरबरा को गिरफ्तार कर हत्या में इस्तेमाल स्विफ्ट कार बरामद कर ली है. वहीं मृतक नितिन के पिता ने सतवीर शर्मा ने बताया कि वो घरबरा गांव में रहते है. उनका बेटा नितिन मोबाइल की दुकान चलाता था. वो ट्रेन टिकट के रिजर्वेशन का काम भी करता था. हफ्तेभर पहले गांव के ही दो सगे भाई नकुल व अरुण उर्फ छोटू ने वैष्णो देवी दर्शन के लिए ट्रेन का टिकट बुक कराया था. 

रविवार रात दोनों दुकान पर पहुंचे और ट्रेन का रिजर्वेशन कैंसल कराया. जिसके बदले नितिन ने आनलाइन रिफंड से तीन सौ रुपये काट लिए. इससे भड़के दोनों भाई सोमवार की सुबह नितिन की दुकान पर पहुंचे. वो वहां नहीं मिला तो उसकी तलाश में कासना पहुंचे जहां उसके साथ मारपीट के बाद उसके 2 मोबाइल लूट लिए.

तीन बच्चों के सिर से उठा पिता का साया

नितिन किसी तरह बचकर बाइक से घरबरा गांव पहुंचा ही था कि पीछा करते हुए आरोपितों ने कार से उसकी बाइक में टक्कर मार दी, जिससे नितिन सौ मीटर दूर गिरा. उसके सड़क पर गिरते ही उस पर कार चढ़ा दी. मारे गए नितिन के दो बेटी और एक बेटा हैं. उनकी मौत के बाद तीन बच्चों के सिर से पिता का साया उठ गया है.

Post a Comment

0 Comments