Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

ओमिक्रॉन: बच्चों में इन 5 लक्षणों को न करें नजरअंदाज, तुरंत कराएं चेकअप

माता-पिता फ्लू जैसे लक्षणों को हल्के में नहीं लें तुरंत बच्चों का कोरोना टेस्ट कराएं. जानकार आशंका जता रहे हैं कि ओमिक्रॉन बच्चों को सक्रमित कर सकते हैं.


दक्षिण अफ्रीका से शुरू हुए कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) ने पूरी दुनिया में हड़कंप मचा दिया है. इस बीच Omicron को लेकर डरावनी जानकारी सामने आ रही है. ओमिक्रॉन छोटे बच्चों को भी निशाना बना रहा है. दक्षिण अफ्रीका के एक डॉक्टर के बाद ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने भी चिंता जताते हुए कहा कि 5 साल से कम उम्र के बच्चों में भी ये संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है.

ब्रिटिश विशेषज्ञों ने जताई चिंता

ब्रिटेन के वैज्ञानिक सुपर स्ट्रेन ओमिक्रॉन (Omicron) पर डेटा इकट्ठा कर रहे हैं. इस डेटा की स्टडी के बाद उन्होंने कहा कि एक चिंताजनक संकेत यह है कि यह बच्चों को पहले की तुलना में ज्यादा तेजी से संक्रमित कर सकता है. ब्रिटिश विशेषज्ञों ने कहा कि बच्चे अब तक वायरस से काफी हद तक अप्रभावित रहे हैं, राहत की बात यह है कि ज्यादातर मामलों में केवल माइल्ड लक्षण ही आए. जिस डॉक्टर ने सबसे पहले ओमिक्रॉन वैरिएंट के बारे में जानकारी दी थी, उसने दावा किया था कि यह अलग-अलग लक्षण पैदा करता है. दक्षिण अफ्रीकी मेडिकल एसोसिएशन की अध्यक्ष डॉ एंजेलिक कोएत्जी ने कहा कि ओमिक्रॉन के मुख्य लक्षणों में- थकान, शरीर में दर्द, सिरदर्द शामिल हैं.

छह साल की बच्ची में दिखे ये लक्षण

डॉ कोएत्जी ने छह साल की बच्ची के लक्षणों के बारे में जानकारी दी है. बच्ची को बुखार था साथ ही उसकी पल्स रेट ज्यादा थी. ये लक्षण बड़ों में भी पाए जा रहे हैं. लेकिन अब नई जानकारी में बच्चों में पाए जा सकने वाले लक्षणों को लेकर आगाह किया गया है. गौतेंग प्रांत के एक सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ नत्साकिसी मालुलेके ने रॉयटर्स को बताया कि कई मरीज गले में खराश और फ्लू जैसे लक्षणों के बारे में भी जानकारी दे रहे हैं.

बच्चों में इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज

डॉ मालुलेके का कहना है कि माता-पिता फ्लू जैसे लक्षणों को हल्के में नहीं लें तुरंत बच्चों का कोरोना टेस्ट कराएं. सोवेटो के क्रिस हानी बरगवनाथ एकेडमिक हॉस्पिटल के डॉ रूडो मथिवा का कहना है कि पहले की तुलना में इस बार बच्चे ज्यादा संक्रमित हो रहे हैं. उन्होंने दावा किया: 'अब बच्चों में गंभीर लक्षण भी आ रहे हैं. ऐसे मामलों में ऑक्सीजन की जरूरत भी पड़ रही है. विशेषज्ञों ने माता-पिता को इन पांच लक्षणों को लेकर आगाह किया है- 
    1. थकान
    2. सिरदर्द
    3. बुखार
    4. गले में खराश
    5. भूख में कमी

Post a Comment

0 Comments