Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Bihar: जहानाबाद में फूड प्वाइजनिंग से दो बच्चों की मौत तीन महिलाएं गंभीर, बासी पीठा और खेसारी की साग ने ली जान

बिहार के जहानाबाद में विषाक्त खाना खाने के बाद दो बच्चों की मौत हो गई है. जबकि तीन महिला गंभीर रूप से बीमार हैं. बताया जा रहा है कि सभी ने मंगलवार को तीन दिन की बासी पीठा और खेसारी का साग खाया था. जिसके बाद बुधवार को सुबह सभी घर में बेसुध मिले.


बिहार के जहानाबाद (Jehanabad) में फूड प्वाइजनिंग (Food poisoning) से दो बच्चों की मौत हो गई है. जबकि तीन महिलाएं गंभीर रुप से बीमार हो गई है. फूड प्वाइजनिंग की वजह से जान गंवाने वाले बच्चों की पहचान तीन साल की राधिका कुमारी और पाच साल की रीधन कुमार के रूप में हुई है. जबकि गंभीर रूप से बीमार पड़ने वाली महिला सीमा देवी, उर्मिला देवी और परदादी जमुनी देवी है. ये तीनों फूड प्वाइजनिंग के शिकार हुए बच्चों की मां, दादी और परदादी है. तीनों महिला को बेहोशी की हालात में सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है, घटना मखदुमपुर प्रखंड के विशुनगंज ओपी क्षेत्र के औदानबिगहा गांव की है. इस घटना के बाद से गांव में कोहराम मच गया है. एक ही परिवार के दो बच्चों की मौत और तीन महिलाओं की मौत के बाद यहां मातम पसर गया है.


घटना के बारे में बताया जा रहा है कि बच्चों और महिलाओं ने मंगलवार की शाम तीन दिन पहले बनी बासी पीठा, चटनी और बासी खेसारी का साग खाया था. तो वहीं परिवार के मुखिया नीतीश कुमार शब्जी रोटी खाकर विशुनगंज बाजार सोने चला. इसके बाद सुबह जब पड़ोसियों ने देर तक नहीं जगने और आवाज देने पर जवाब नहीं देने पर इसकी सूचना नीतीश कुमार को दी.

तीनों महिला जहानाबाद सदर अस्पताल में भर्ती

इस बीच ग्रामीणों ने छत के सहारे घर मे प्रवेश कर देखा तो सभी बेहोशी के हालात में बेसुध पड़े थे. इसके बाद आनन फानन में ग्रामीण सभी को मखदुमपुर रेफरल अस्पताल लेगे जहां प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने उसे जहानाबाद सदर अस्पताल रेफर कर दिया. जहानाबाद सदर अस्पताल में डॉक्टरों ने दोनों बच्चो को मृत घोषित कर दिया जबकि तीन लोगों का इलाज जारी है. घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर विशुनगंज ओपी की पुलिस पहुंच गई और दोनों बच्चों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है.

सबने खाई थी बासी पीठा और खेसारी की साग

घटना के बारे में परिजन नीतीश कुमार ने बताया कि मंगलवार की शाम घर के लोगों ने बासी पीठा, चटनी और खेसारी का साग खाई थी. तो वहीं उन्होंने रोटी सब्जी खाई थी. इससे उसकी जान बच गई. तो वहीं बिशुनगंज ओपी प्रभारी अनिल चौधरी ने कहा कि दोनों मृत बच्चों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है. महिलाओं के होष में आने के बाद मामले में और पूछताछ की जाएगी.

Post a Comment

0 Comments