Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Delhi corona: दिल्ली में 8 दिन से लगातार कम हो रहा है पॉजिटिविटी रेट, रिकवरी दर बढ़ रही

दिल्ली में 14 जनवरी को पॉजिटिविटी रेट 30 .64 फीसदी तक पहुंच गया था. जो अब 16.36 प्रतिशत पर आ गया है. पहले 100 टेस्ट करने पर 30 संक्रमित मिल रहे थे. अब 16 लोग पॉजिटिव मिल रहे है. पिछले 24 घंटे में हॉस्पिटलाइजेशन में भी कमी देखी गई है.


देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट (Positivity rate)  लगातार कम हो रहा है. साथ ही रिकवरी रेट भी अब बढ़ रहा है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि राजधानी में कोरोना की इस लहर का पीक (Corona peak) गुजर चुका है. अब आने वाले दिनों में केस कम होते रहेंगें. फरवरी तक संक्रमण पूरी तरह काबू में आने की उम्मीद है.

दिल्ली में 14 जनवरी को पॉजिटिविटी रेट 30 .64 फीसदी तक पहुंच गया था. जो अब 16.36 प्रतिशत पर आ गया है. पहले 100 टेस्ट करने पर 30 संक्रमित मिल रहे थे. अब 16 लोग पॉजिटिव मिल रहे है. पिछले 24 घंटे में हॉस्पिटलाइजेशन में भी कमी देखी गई है. 21 जनवरी तक अस्पतालों में 2698 मरीज थे. अब यह संख्या 2504 पर आ गई है. पिछले 20 दिनों में ऐसा पहली बार है जब हॉस्पिटलाइजेशन घटने लगा है. दिल्ली में अभी करीब 85 फीसदी बेड खाली है. नए मामलों में कमी आने के साथ एक्टिव मरीजों की संख्या भी घटकर 58,593 रह गई है. रिकवरी रेट बढ़कर 95 प्रतिशत हो गया है. ओमिक्रॉन वैरिएंट के नई मामलों में भी ज्यादा इजाफा नहीं हो रहा है. जहां एक समय दिल्ली में ओमिक्रॉन के सबसे अधिक केस थे. अब ओमिक्रॉन के मामले में दिल्ली छठे पायदान पर खिसक गई है.

3 जनवरी को निकल चुका है कोरोना का पीक

सफदरजंग अस्पताल के मेडिसिन विभाग के एचओडी डॉक्टर जुगल किशोर का कहना है कि दिल्ली में कोरोना की इस तीसरी लहर का पीक निकल चुका है. डॉ. के मुताबिक, 13 जनवरी को पीक आया था. तब एक दिन में संक्रमण के रिकॉर्ड 28,867 मामले आए थे. वहीं दूसरे दिन 14 जनवरी को इस सीजन का रिकॉर्ड संक्रमण दर 30.64 पर्सेंट दर्ज किया गया था. इसके बाद से ही कोरोना के मामले और संक्रमण दर लगातार कम हो रही है. हालांकि टेस्ट भी कम हुए हैं, लेकिन इसकी संख्या बढ़ाने पर भी अब केस ज्यादा नहीं बढेंगे क्योंकि एक बड़ी आबादी संक्रमित हो चुकी है. अब उम्मीद है कि अगले एक से दो सप्ताह में कोरोना की ये लहर खत्म हो जाएगी.

दिल्ली में कोरोना के आंकड़े

कुल मामले: 17,82,514

रिकवर हुए: 16,98,335

एक्टिव मरीज: 58,593

मौतें: 25,586

Post a Comment

0 Comments