Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

इंटरमीडिएट के आधार पर ही दसवीं कक्षा के छात्रों को रियायत अंक मिलेंगे

छात्रों की शैक्षिक रुचि को ध्यान में रखते हुए वर्ष 2021-22 में दसवीं कक्षा की परीक्षा में बैठने वाले छात्रों को केवल इंटरमीडिएट ड्राइंग ग्रेड परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर रियायत अंक दिए जाएंगे। स्कूल शिक्षा मंत्री प्रो. वर्षा गायकवाड़ ने इसकी जानकारी दी।


निर्णय केवल शैक्षणिक वर्ष 2021-22 के लिए लागू

प्रो. गायकवाड़ ने स्पष्ट किया है कि यह निर्णय केवल शैक्षणिक वर्ष 2021-22 के लिए लागू है, जो वर्ष 2021-22 में दसवीं कक्षा की परीक्षा में नहीं बैठ सके और वर्ष 2020-21 में प्रारंभिक ड्राइंग ग्रेड परीक्षा में नहीं बैठ सके।शास्त्रीय कला, चित्रकला के क्षेत्र और लोक कला के क्षेत्र में भाग लेने वाले छात्रों को अतिरिक्त रियायतें देने की संशोधित प्रक्रिया के अनुसार, छात्रों को इंटरमीडिएट ड्राइंग ग्रेड परीक्षा के अंक तब तक नहीं मिलेंगे जब तक कि वे प्रारंभिक परीक्षा पास नहीं कर लेते।


हालांकि, कोविड-19 की व्यापकता और इसके कारण उत्पन्न असामान्य परिस्थितियों के कारण वर्ष 2020-21 में सरकारी ड्राइंग परीक्षा आयोजित करना संभव नहीं था। वर्ष 2020-21 में सरकारी ड्राइंग परीक्षा आयोजित नहीं होने के कारण छात्रों को परीक्षा में बैठने का अवसर नहीं मिल सका। मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा है कि ऐसे छात्रों को इंटरमीडिएट ड्रॉइंग ग्रेड परीक्षा में प्राप्त ग्रेड के आधार पर ही उन्हें वर्ष 2021-22 के लिए रियायती अंक दिए गए हैं।

Post a Comment

0 Comments