Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

तालाब में मिली तीन दिनों से लापता युवक की लाश, हत्या कर फेंकने की आशंका, जांच में जुटी पुलिस

घटना के बाद पीड़ित परिजनों में काफी आक्रोश है. वे पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा कर रहे हैं. इधर, घटना के संबंध में पुलिस की ओर से कहा गया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है.

बिहार के बेगूसराय जिले के पसपूरा गांव में मंगलवार को उस वक्त हड़कंप मच गया, जब गांव के ही तालाब में तीन दिनों से लापता युवक का शव बरामद किया गया. मृतक की पहचान पसपूरा गांव निवासी सुशील कुमार (19) के रूप में की गई है. मिली जानकारी अनुसार जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के उक्त गांव निवासी बोकन पासवान का बेटा सुशील 19 फरवरी की शाम से ही गायब था. ऐसे में परिजनों ने उसके लापता होने की शिकायत स्थानीय थाने में दर्ज कराई थी.

एसपी कार्यालय के बाहर किया था हंगामा

शिकायत दर्ज कराने के बाद भी पुलिस का रवैया उदासीन था. ऐसे में सोमवार को सुशील के परिजनों ने एसपी ऑफिस के बाहर बवाल किया था और एसपी योगेंद्र कुमार से उसकी बरामदगी की गुहार लगाई थी. ऐसे में पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई थी. इसी क्रम में पुलिस ने मंगलवार को लापता युवक का शव गांव स्थित तालाब में बरामद किया.

गांव के ही दबंगों पर हत्या का आरोप

मृतक के परिजनों की मानें तो सुशील की पहले हत्या की गई और फिर उसके शव को फेंक दिया गया. उन्होंने बताया कि साल 2017 में गांव के ही दबंग मूसन सिंह ने सुशील की चाची के साथ दुर्व्यवहार करने का प्रयास किया था, जिसका सुशील ने विरोध किया था. इसके बाद से लगातार मूसन सिंह और उसके साथी सुशील को जान से मारने की धमकी दे रहे थे.

परिजनों का आरोप है कि 19 फरवरी की शाम को उन्ही लोगों ने उसे किसी काम से बुलाया था. उस वक्त किसी कारण पुलिस भी गांव आई थी. तभी सारे आरोपी फरार हो गए. उसके बाद से सुशील का कोई अता पता नहीं चला. इसी क्रम में आज उसका शव बरामद किया गया. इस घटना के बाद पीड़ित परिजनों में काफी आक्रोश है. वे पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा कर रहे हैं. इधर, घटना के संबंध में पुलिस की ओर से कहा गया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही यह बात स्पष्ट होगी कि सुशील की हत्या की गई है या घटना के पीछे कोई और वजह है.

Post a Comment

0 Comments