Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

मोरक्को: चार दिन से कुएं में फंसे मासूम की मौत, रेस्क्यू ऑपरेशन में नहीं बचाई जा सकी जान

Rescue Operation In Morocco To Save Child: 5 साल के बच्चे को बचाने के लिए सोशल मीडिया पर हैशटैग #SaveRayan ट्रेंड हुआ. देश-विदेश में बड़ी संख्या में लोगों ने बच्चे की सलामती की दुआ की.


चार दिनों से कुएं में फंसे मोरक्को (Morocco) के पांच साल के एक बच्चे रेयान (Rayan) की मौत हो गई है, हालांकि उसे बचाने के लिए काफी प्रयास किए गए. एक शाही बयान ने कुएं से निकाले जाने के तुरंत बाद उसकी मौत की घोषणा की गई.

104 फीट गहरे कुएं में गिरा मासूम

बता दें कि रेयान कुएं के संकरे रास्ते से 32 मीटर (104 फीट) नीचे गिर गया था. भूस्खलन की आशंका के चलते बचाव कार्य में काफी बाधा आई. बचावकर्मियों ने आखिरकार शनिवार शाम को रेयान को कुएं से बाहर निकाला. हालांकि उसकी हालत के बारे में उस समय कुछ नहीं बताया गया.

सोशल मीडिया पर ट्रेंड हुआ हैशटैग #SaveRayan

सोशल मीडिया पर देश और विदेशों में ट्रेंड कर रहे हैशटैग #SaveRayan का इस्तेमाल करने वाले लोगों ने खुशी जाहिर की. लेकिन कुछ मिनट बाद यह दिल दहला देने वाला हो गया जब यह बयान आया कि रेयान की मृत्यु हो गई है. इसके बाद ट्विटर यूजर्स ने उसी हैशटैग का इस्तेमाल कर श्रद्धांजलि देना और दुख व्यक्त करना शुरू कर दिया.

मृतक मासूम के माता-पिता से मिले मोरक्को के राजा

शाही महल के बयान में कहा गया, 'इस दुखद दुर्घटना के बाद जिसमें रेयान ओरम की जान चली गई, राजा मोहम्मद VI ने रेयान के माता-पिता को बुलाया और राजा ने अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की.'

मंगलवार को हादसे के वक्त रेयान के पिता कुएं की मरम्मत कर रहे थे. उन्होंने अगले दिन स्थानीय मीडिया को बताया कि उनका बेटा शाफ्ट से नीचे गिर गया. बता दें कि मोरक्को के नागरिक सुरक्षा निदेशालय के नेतृत्व में शेफचौएन शहर से लगभग 100 किमी दूर छोटे उत्तरी शहर तामोरोट में बचाव अभियान मंगलवार शाम को शुरू हुआ. गुरुवार को एक कैमरे से कुएं की फुटेज से पता चला कि लड़का जीवित और होश में था, लेकिन तब से उसकी स्थिति के बारे में कोई अपडेट नहीं था.

बचावकर्मियों ने लड़के को ऑक्सीजन, भोजन और पानी पहुंचाने की कोशिश की, लेकिन यह स्पष्ट नहीं था कि वह उनका इस्तेमाल कर पाएगा या नहीं. चट्टानी और रेतीली मिट्टी के मिश्रण के चलते बचाव दल ने पानी के कुएं के संकरे शाफ्ट को खोलना बहुत खतरनाक माना और इसके चलते कुएं के बगल में एक बड़ी खाई को काटने के लिए बुलडोजर का इस्तेमाल किया गया था.

बचाव दल ने बच्चे तक पहुंचने के लिए क्षैतिज (Horizontally) रूप से खुदाई शुरू की. कुछ ने चौबीसों घंटे काम किया, रात के दौरान भी काम जारी रखा गया और फ्लडलाइट का इस्तेमाल किया. इस ऑपरेशन को देखने के लिए सैकड़ों लोग इकट्ठा हुए, धार्मिक गीत गाए, प्रार्थना की और 'अल्लाह हू अकबर' के नारे लगाए.

इसके बाद बचावकर्मी बच्चे को निकालने में तो कामयाब हो गए पर उसको बचाया नहीं जा सका. रेयान की मौत से पूरे देश के साथ सोशल मीडिया पर भी शोक की लहर है.

Post a Comment

0 Comments