Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

श्रीलंका में राजपक्षे का इस्तीफा, राष्ट्रपति के कार्यालय के बाहर हंगामे में 78 घायल

 श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने सोमवार को इस्तीफा दे दिया. इस बीच उनके (महिंदा राजपक्षे) समर्थकों द्वारा राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के कार्यालय के बाहर प्रदर्शनकारियों पर हमला करने के बाद राजधानी कोलंबो में सेना के जवानों को तैनात किया गया है. 

श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने सोमवार को इस्तीफा दे दिया. इस बीच उनके (महिंदा राजपक्षे) समर्थकों द्वारा राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के कार्यालय के बाहर प्रदर्शनकारियों पर हमला करने के बाद राजधानी कोलंबो में सेना के जवानों को तैनात किया गया है. 

श्रीलंका में लगा कर्फ्यू
इस हमले में कम से कम 78 लोग घायल हो गए. श्रीलंकाई अधिकारियों ने सोमवार को पूरे देश में कर्फ्यू लगा दिया. कम से कम दो कैबिनेट मंत्रियों ने भी अपने इस्तीफे की घोषणा की है. 

आर्थिक संकट से गुजर रहा श्रीलंका
प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे (76) ने राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे को अपना त्याग पत्र भेजा. वर्ष 1948 में ब्रिटेन से आजादी मिलने के बाद श्रीलंका अब तक के सबसे गंभीर आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है.

हजारों प्रदर्शनकारी हैं सड़कों पर
यह संकट मुख्य रूप से विदेशी मुद्रा की कमी के कारण पैदा हुआ जिसका अर्थ है कि देश मुख्य खाद्य पदार्थों और ईंधन के आयात के लिए भुगतान नहीं कर पा रहा है. नौ अप्रैल से पूरे श्रीलंका में हजारों प्रदर्शनकारी सड़कों पर हैं, क्योंकि सरकार के पास आयात के लिए धनराशि खत्म हो गई है. आवश्यक वस्तुओं की कीमतें आसमान छू रही हैं.

महिंदा राजपक्षे ने की थी संयम बरतने की अपील
इससे पहले महिंदा राजपक्षे ने सोमवार को जनता से संयम बरतने की थी और यह याद रखने की अपील की थी कि हिंसा से केवल हिंसा ही बढ़ेगी. उन्होंने कहा था कि देश में आर्थिक संकट के आर्थिक समाधान की जरूरत है जिसके लिए उनकी सरकार प्रतिबद्ध है.

बता दें कि राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के नेतृत्व वाली सरकार पर देश के सामने मौजूद सबसे भयावह आर्थिक संकट से निपटने के लिए अंतरिम प्रशासन के गठन का दबाव है. इससे पहले महिंदा राजपक्षे के समर्थकों ने उनके आधिकारिक आवास ‘टेंपल ट्रीज’ के पास प्रदर्शन स्थल ‘मैनागोगामा’ के बाहर मौजूद प्रदर्शनकारियों पर हमला कर दिया था. इससे हालात तनावपूर्ण हो गए.

Post a Comment

0 Comments