Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

West Bengal: बंगाल में धार्मिक उत्सव के दौरान भीषण गर्मी से 5 श्रद्धालुओं की मौत, CM ममता बनर्जी ने जताया शोक

पश्चिम बंगाल में एक धार्मिक उत्सव के दौरान पांच श्रद्धालुओं की मौत हो गई. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट करके घटना पर दुख व्यक्त किया है.

पश्चिम बंगाल में एक धार्मिक उत्सव के दौरान भीषण गर्मी से पांच श्रद्धालुओं की मौत हो गई. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने रविवार को कहा कि उत्तर 24 परगना (North 24 Pargana) जिले के पानीहाटी (Panihati) में एक धार्मिक सभा में गर्मी और उमस के कारण बुजुर्ग श्रद्धालुओं की मौत हो गयी. बनर्जी ने कहा कि वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं और हर संभव सहायता प्रदान की जा रही है. उन्होंने ट्वीट करके कहा, 'पानीहाटी के इस्कॉन मंदिर में दंड महोत्सव में गर्मी और उमस के कारण श्रद्धालुओं की मौत के बारे में सुनकर व्यथित हूं. पुलिस आयुक्त और जिलाधिकारी मौके पर पहुंचे हैं, सभी सहायता प्रदान की जा रही है. शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदना.' 

बैरकपुर आयुक्तालय के संयुक्त पुलिस आयुक्त ध्रुबज्योति डे ने कहा कि पानीहाटी स्थित हुगली नदी के किनारे एक मंदिर में 'दोई-चिरे मेला' के दौरान भीड़ में गर्मी के कारण गंभीर रूप से बीमार पड़ने के बाद लोगों को अस्पताल में ले जाया गया. श्री चैतन्यदेव के पुरी से नवद्वीप स्थित निवास के रास्ते में यहां आगमन को चिह्नित करने के लिए इस दिन हर साल बड़ी संख्या में लोग पानीहाटी में इकट्ठा होते हैं. वहीं पानीहाटी नगर पालिका के अध्यक्ष मोलॉय रॉय ने दावा किया कि दो महिलाओं समेत कई लोगों की मौत हुई है. डे ने बताया कि मेले में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस का एक दल फिलहाल मौजूद है. 

भीड़ ज्यादा होने से मची अफरी-तफरी

बताया जा रहा है उत्तर 24 परगना के पानीहाटी के मेले में अफरा-तफरी हो गई थी. ज्यादा भीड़ और भीषण गर्मी से करीब 50 लोग बीमार पड़ गए. उन्हें अलग-अलग अस्पतालों में भेजा गया. इनमें से कई गंभीर रूप से बीमार हुए थे. जिसके बाद पांच लोगों की मौत हो गई. ऐसे में मेला बंद कर दिया गया है. बताया जा रहा है कि सुबह से ही भीड़ जमा हो गई थी. एक तरफ लोगों की भीड़ तो दूसरी तरफ भीषण गर्मी ने वहां मौजूद लोगों के लिए मुश्किलें पैदा कर दी.

कोविड के कारण दो साल से नहीं लगा था मेला 

घटना के बाद प्रशासन ने तुरंत कार्रवाई की. खरड़ा थाने की पुलिस मौके पर पहुंची. पानीहाटी (Panihati) नगर पालिका की ओर से कर्मचारी व अधिकारी भी क्षेत्र में पहुंचे हैं. बता दें कि, कोविड (Covid) के कारण पिछले दो साल से मेला (Bengal Religious Fair) नहीं लग रहा है इसलिए दावा है कि इस बार भीड़ उमड़ पड़ी.

Post a Comment

0 Comments