Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

ड्राइवर ने दोस्त के साथ मिलकर मालकिन से लूट लिए 37 लाख 40 हजार रुपये, पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक 27 मई की शाम करीब पांच बजे पुलिस को एक सूचना मिली कि ग्रेटर कैलाश इन्क्लेव के पार्ट 2 से आंखों में मिर्च पाउडर झोंक कर करीब 50-60 लाख की लूट हो गई है.


ड्राइवर द्वारा दोस्त के साथ मिलकर मालकिन को लूटने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. पुलिस के अनुसार ड्राइवर ने पहले खुद ही दोस्त को कैश से भरा बैग दे दिया और फिर पुलिस को गुमराह करने के लिए अपनी ही आंखों में उसने मिर्ची का पाउडर झोंक लिया. लेकिन मोबाइल की झूठी कहानी ने उसके अपराध का राज खोल दिया. दिल्ली पुलिस ने महज़ 5 घंटे में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. दरअसल मामला दिल्ली के सीआर पार्क इलाके का है जंहा दोस्त के साथ मिलकर एक ड्राइवर ने लूट की झूठी कहानी रची. दिल्ली पुलिस ने दोनो आरोपियों को पकड़ लिया और लूट की सारी रकम 37 लाख 40 हजार बरामद भी कर लिया.


पुलिस के मुताबिक 27 मई की शाम करीब पांच बजे पुलिस को एक सूचना मिली कि ग्रेटर कैलाश इन्क्लेव के पार्ट 2 से आंखों में मिर्च पाउडर झोंक कर करीब 50-60 लाख की लूट हो गई है. जानकारी मिलते ही एसएचओ सीआर पार्क  रितेश शर्मा अपनी टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे. जंहा एक महिला जो कि शिकायतकर्ता थी उसने बताया कि  उसने अपनी बहन के साथ होटल हयात में मेकअप क्लास ऑर्गनाइज किया था. और शुक्रवार को वो छात्रों की फीस जो 37 लाख 40 हजार थी को लेकर अपने घर पहुचीं थी. गाड़ी उनका ड्राइवर प्रमोद कुमार मंडल चला रहा था. जब वो घर पहुचीं और उनका ड्राइवर कैश भरा बैग ले जा रहा था तभी लूट की वारदात को अंजाम दिया गया. 

इसे भी पढ़ें: भाई के सामने ही भाई की गोली मारकर हत्या, ऐसे हुई दिल दहला देने वाली वारदात

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने फौरन मामला दर्ज कर जांच शुरू की और सबसे पहले इलाके के सभी सीसीटीवी फुटेज को खंगालने की कवायद शुरू की गई. इस दौरान पुलिस ने ड्राइवर प्रमोद से पूछताछ भी शुरू की लेकिन पूछताछ के दौरान  प्रमोद लगातार अपने बयान  बदल रहा था और जब उसके फोन को मंगा गया तो अपना मोबाइल फ़ोन भी नहीं दे रहा था. लिहाज़ा पुलिस को शक हुआ जिसके बाद पुलिस ने प्रमोद से कड़ाई से पूछताछ की जिसके बाद उसने साजिश और लूट की पूरी कहानी पुलिस को बता दी. प्रमोद ने बताया कि उसने इस लूट में अपने साथी फूल कुमार यादव को भी मिला रखा था. प्रमोद ने पुलिस को अपना मोबाइल भी बरामद करवा दिया जो उसने पार्किंग एरिया में छिपा रखा था. 


पुलिस के मुताबिक प्रमोद मोबाइल फोन के बारे में इसलिए झूठ बोल रहा था की उसको शक था कि अगर उसका फोन पुलिस को मिल जाएगा तो उसे पता लग जाएगा कि प्रमोद फूल कुमार से लगातार बात कर रहा था. इसके बाद पुलिस ने करीब 50 किलोमीटर पीछे आकर गुड़गांव से फूल कुमार यादव को भी गिरफ्तार कर लिया और उसके पास से रुपयों से भरा बैग बरामद कर लिया. लूट के इस मामले में सारी रकम 37 लाख 40 हजार बरामद कर लिया.


पूछताछ में फूल कुमार ने बताया कि उनके पास जानकारी ये थी कि घर के अंदर 5 से 6 करोड़ रुपए हो सकते हैं, लेकिन जब फूल कुमार लूट के इरादे से मौके पर पहुंचा तो रुपयों के बैग के साथ प्रमोद नीचे ही मिल गया और उसने वह बैग फूल कुमार के हवाले कर दिया और खुद ही अपनी आंखों में मिर्च झोंक ली थी. फिलहाल पुलिस ने दोनों आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और फूल कुमार के बताए गए ठिकाने से वो तमंचा भी बरामद कर लिया है जिसको लेकर ये लूट की वारदात को अंजाम देने गए थे.

Post a Comment

0 Comments